Friday, August 7, 2020
Home Lifestyle Eid Ul Adha 2020: आज देश भर में मनाई जा रही हैं...

Eid Ul Adha 2020: आज देश भर में मनाई जा रही हैं ईद की खुशियां, मगर कोरोना में रौनक हुई कम

Eid Ul Adha 2020: आज देश भर में मनाई जा रही हैं ईद की खुशियां, मगर कोरोना में रौनक हुई कम

आज देश भर में ईद मनाई जा रही है.

ईद का त्‍योहार (Eid Ul Adha 2020) देश भर में मनाया जा रहा है. मगर कोरोना (Coronavirus) का दौर है. ऐसे में ईद की रौनक कुछ कम दिखाई दे रही है. वहीं मस्जिदों में भी सोशल डिस्‍टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करते हुए नमाज अदा की गई.

Eid Ul Adha 2020: आज देश भर में ईद का त्‍योहार (Eid Ul Adha 2020)  मनाया जा रहा है. हालांकि कोरोना (Coronavirus) का दौर है और लोगों को पूरी एहतियात के साथ बाहर निकलना पड़ रहा है. ऐसे में इसकी रौनक कुछ कम दिखाई दे रही है. यही वजह है कि मस्जिदों तक कम लोग पहुंचे और अपने घरों में रह कर नमाज अदा की. वहीं मस्जिदों में सोशल डिस्‍टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करते हुए नमाज अदा की गई. दरअसल, इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण (Coronavirus Infection) की वजह से कुर्बानी और मस्जिदों में नमाज पढ़ने को लेकर सरकार की ओर से भी कुछ गाइडलाइंस जारी की गई हैं.

यही वजह है कि ज्‍यादातर मस्जिदों में कम लोग इकट्ठा हुए. देश की राजधानी दिल्ली की जामा मस्जिद में भी सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करते हुए आज सुबह ईद की नमाज अदा की गई. इस दौरान कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए नमाज पढ़ने आने वाले लोगों के शरीर के तापमान की भी जांच की गई.

गौरतलब है कि परंपरागत तौर पर ईद उल अज़हा के दिन जानवरों की जो कुर्बानी दी जाती है, उसके मांस का एक हिस्सा गरीबों और जरूरतमंदों में बांट दिया जाता है, वहीं बाकी हिस्सा परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों के लिए रखा जाता है. कुर्बानी का सिलसिला तीन दिन तक जारी रहता है. ईद-उल फितर के बाद ईद-उल-अजहा मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा त्‍योहार है. दोनों ईद पर मस्जिदों में ईद की नमाज अदा की जाती है. जहां ईद-उल फितर पर सेवइयां, शीर खुरमा बनाने का रिवाज है और इसे मीठी ईद भी कहा जाता है. वहीं ईद-उल अज़हा पर बकरे, भेड़ आदि जानवरों की कुर्बानी दी जाती है और कुछ लोग इसे बकराईद के नाम से भी जानते हैं.

ये भी पढ़ें – Eid Ul Adha 2020: दिल बोले ‘ईद मुबारक’ सोशल मीडिया पर ईद की धूमहालांकि इस बार कुछ धार्मिक संगठनों की ओर से सफेद जानवरों के साथ ही ऊंट की कुर्बानी के लिए भी मना किया गया है और एहतियात के तौर पर खुले में कुर्बानी दिए जाने की मनाही है. कोरोना के साए में मनाई जा रही इस बार की ईद इसलिए अलग है कि इसमें लोगों को बाहर निकलने की मनाही है. सरकार की ओर से एहतियाती कदम के तौर पर गाइलाइंस जारी की गई हैं. ऐसे में इस बार जहां मस्जिदों में लोग कम इकट्ठा हुए, वहीं इस बार कुर्बानी भी कम दी जा रही है. ईद का यह त्‍योहार पूरी दुनिया में मनाया जाता है. हालांकि कुछ देशों में कल यानी 31 जुलाई को ईद मनाई गई और भारत समेत कुछ देशों में आज ईद मनाई जा रही है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments